May 18, 2024

बिलासपुर/ताजा मामला बिलासपुर के का है जहा ग्राम सेंद्री के आरपा नदी में एक बार फिर से रेत माफियाओं ने रेत का अवैध रूप से  उत्खनन चालू कर दिया है । रेत चोर दिनरात ट्रैक्टर में भरकर रेत परिवहन कर रहे हैं। दूसरी ओर खनिज विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों को इस बारे में भनक तक नही या कोई मिली जुली सरकार चल रही है,! यह तो आने वाला समय ही बतायेगा।जिससे रेत चोरों के हौसले बुलंद हैं। पुलिस व राजस्व विभाग के अफसर भी गहरी नींद में है।

1कोनी थाने के नाक के नीचे से रेत का अवैध परिवहन

कही खनिज विभाग के लोग तो नहीं शामिल



जिस जगह सेंदरी में तीन बच्चो की मौत हुई थी,उसी जगह पर एक बार फिर से अंधाधुंध रेत की अवैध खुदाई की जा रही है। सेंदरी में रेत माफिया कई जगहों पर अवैध रेत घाट बना चुके हैं। हाई कोर्ट की फटकार के बाद अरपा में जिस जगह पर बड़े बड़े गड्ढों को पाटा गया था। अब वही पर ही उससे गहरा गड्डा रेत चोरों ने बना दिया है।

पास में फोर लेन का ब्रिज है,उसके पास भी खुदाई की जा रही है। यहां सुबह और रात में खनन हो रहा है। शिकायत के बाद भी खनिज विभाग चुप्पी साधे हुए है। इसके चलते रेत चोरी करने वालों के हौसले बुलंद हैं। रात के अंधेरे में यहां रोजाना 40 से 50 ट्रैक्टर लगते है और अंधाधुंध रेत खुदाई होती है  ।



इस संबंध में जब सेंदरी के सरपंच से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि उनके द्वारा कई मर्तबा  उत्खनन को लेकर खनिज विभाग और कलेक्ट्रेट में लिखित शिकायत की गई है इसके बावजूद अधिकारी यहां कार्यवाही करने नहीं आते हैं।  उन्होंने बताया कि जिस जगह पर बच्चियों की मौत हुई थी वहां उससे भी बड़ा गड्ढा रेत माफियाओ ने बना दिया हैं।

रसूखदारों की वजह से खनिज विभाग के अधिकारी दबाव में रहते हैं। इसके चलते कभी बड़ी कार्रवाई नहीं करते। विभाग के अफसरों से मिलिभगत के बिना ये संभव भी नही हैं।कार्रवाई नहीं होने की वजह से  अवैध उत्खनन और अधिक होने लगा है।


आलम अब यह है की सेंदरी गांव के नदी में जगह जगह फिर से गड्ढे हो गए हैं जिससे फिर कभी यहां बड़ा हादसा हो सकता है। ट्रैक्टर मालिक अवैध तरीके से खनिज विभाग, राजस्व और थाना कर्मचारियों की शह पर रेत निकाल रहे हैं। अब देखना होगा कि इस मामले में उच्च अधिकारी कब तक संज्ञान लेते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *